Fri07212017

Last updateFri, 23 Jun 2017 9am

Sam Bahadur – A Gentleman, A Soldier And A Wonderful Human

sam bahadur

I was in class 9th when I first heard my school Principal Colonel V.K Jha talking about Field Marshal Sam Manekshaw. He was motivating a crowd of 800 students in an Open Air Theatre without using any mic – which he often used to do – and this time he was sharing stories of the war of 1971. Colonel Jha shared an anecdote which he had heard from Field Marshal Manekshaw during his Academy days:

Read more...

Atal Bihari Vajpayee – A Leader Like No Other

atal

Today is the day, Former PM Atal Bihari Vajpayee, will be awarded the Bharat Ratna, India’s highest civilian honour. Although it is an NDA Government giving an award to an NDA leader, almost nobody can call this a partisan decision with any sort of conviction, because this is the legacy of Atal Bihari Vajpayee, as a leader who took the streets against the 1975 Emergency, as India’s first tallest opposition leader, and as a fine statesman during his tenure as Prime Minister of India.

Read more...

आखिर वीर सावरकर कौन थे ?

2-26-15 veer savarkar death

दामोदर विनायक सावरकर की गिनती देश के महान स्वतन्त्रता सेनानियों में की जाती है। वह बड़े साहसी और वीर थे। उन्होंने देश की आजादी की लड़ाई में बढ़ चढ़ कर भाग लिया। अनेक कष्ट सहे। यातनाएँ झेली। कालेपानी की काल कोठरी में भी रहे। फिर भी , कभी अपने मार्ग से डिगे नहीं, झुके नहीं। उनमें देश भक्ति कूट कूटकर भरी थी। उनकी वीरता, निर्भीकता और साहस से प्रभावित होकर देश के लोगों ने उन्हें "वीर" की उपाधि प्रदान की। वह वीर सावरकर के नाम से प्रसिद्ध हुए।

Read more...

मैं आज़ाद हूँ

2-27-15 chander shekhar death day

भारत को स्वतन्त्र कराने वाले जिन महापुरुषों का नाम इतिहास के पन्नो पर स्वर्णिम अक्षरों में अंकित है उन्ही में से एक है महान क्रान्तिकारी चन्द्रशेखर आजाद।

चंद्रशेखर आजाद एक गरीब परिवार में जन्में थे। उनका जन्म मध्य प्रदेश के झबुआ तहसील के भावरा नामक गाँव में 23 जुलाई 1906 को हुआ था। उनके पिता का नाम सीताराम तिवारी और माता का नाम जगरानी देवी था। सीताराम तिवारी उन्नाव जिले के बदरका नामक गाँव के निवासी थे। पर उन्हें अपने परिवार का पेट पालने के लिए भावरा ग्राम जाना पड़ा। वहाँ वे एक बगीचे की देखभाल करते थे और तनख्वाह में आठ रुपया माहवार मिलता था। इतने कम वेतन में ही उन्हें किसी प्रकार जीवन गुजारना पड़ता था।

Read more...

Vedic Mathematics: An Introduction

Vedic Mathematics An Introduction

What is Vedic Mathematics?

‘Vedic Mathematics’ is the name given to ancient Indian system of mathematics. It was re-discovered from the ‘Veda’s by Jagadguru Swami Sri Bharati Krsna Tirthaji Maharaja. He was a Hindu scholar & mathematician who lived from 1884 to 1960. He was the Sankaracharya of the Govardhana matha of Puri during 1925–1960. He is particularly known for his book ‘Vedic Mathematics’

Read more...